Aankhon Mein Hawas Aur Chut Mein Khujli Thi Uski

Aankhon Mein Hawas Aur Chut Mein Khujli Thi Uski

मैं अपने घर पर ही बैठा हुआ था तभी घर की डोर बेल बजी, मैंने मम्मी से कहा मम्मी देखना कौन है तो मम्मी जैसे ही दरवाजे पर गई तो वह कहने लगी तुम्हारा दोस्त अरमान आया हुआ है। मैं उठकर दरवाजे पर गया तो उसके साथ में रिया भी थीमैंने उन दोनों से कहा तुम लोग बाहर क्यों खड़े हो अंदर आओ। मैंने उन दोनों को अंदर बुला लिया मैंने अरमान से पूछा आज काफी समय बाद तुम घर पर आए सब कुछ ठीक तो है ना। Aankhon Mein Hawas Aur Chut Mein Khujli Thi Uski.

अरमान कहने लगा यार क्या बताऊं सब कुछ ठीक ही नहीं है इसीलिए तो तुमसे मिलने के लिए आया था। रिया का चेहरा भी कभी उदास था वह काफी परेशान दिखाई दे रही थी मैंने उन दोनों से उनकी परेशानी का कारण पूछा तो वह कहने लगे तुम्हें क्या बताए। मैंने अरमान और रिया से दोबारा पूछा क्या हुआ है तो उन्होंने बताया कि वह जिस घर में रह रहे है वहां से उनके मकान मालिक ने घर खाली करने के लिए कहा है।

मैंने उन दोनों से पूछा लेकिन इसकी वजह तो उन्होंने बताई होगी वह कहने लगे कि उन्होंने इसकी वजह हम दोनों के प्यार को बताया और कहा हम लोग बे वजह की मुसीबत में नहीं पड़ना चाहते इसलिए तुम यहां से घर खाली कर दो। अरमान मुझे कहने लगा मेरी तो कुछ समझ में नहीं आ रहा है बड़ी मुश्किल से तो कहीं रहने के लिए घर मिला था उसके बाद ऐसी मुसीबत दोबारा से आ गई अब तुम ही बताओ हम क्या करें। मैंने उन दोनों से कहा तुम बेवजह की चिंता ना करो सब कुछ ठीक हो जाएगा। मैंने हमेशा ही अरमान और रिया का साथ दिया है वह दोनों मेरे साथ ही पढ़ा करते थे और उन दोनों के बीच में प्यार हो गया यह बात उनके परिवार वालों को बिल्कुल भी पसंद नहीं थी।

चुदाई की देसी कहानी : दोस्त की सेक्सी बहन ने चुदवाया

उनके परिवार ने बहुत कोशिश की कि वह दोनों अलग हो जाएं और एक दूसरे से उन दोनो का कोई संपर्क ना रहे लेकिन वह दोनों एक दूसरे से इतना प्यार करते हैं कि वह लोग एक दूसरे के बिना रह नहीं सकते थे। मैंने अरमान से कहा तुम बिल्कुल भी चिंता मत करो मैं सब कुछ ठीक कर दूंगा यदि ज्यादा परेशानी हुई तो तुम लोग मेरे घर पर ही रहने के लिए आ जाना। अरमान कहने लगा यार तुम्हारा एहसान मैं कैसे चुकाऊंगा।

मैंने उसे कहा इसमें कोई एहसान की बात नहीं है जब दोस्ती की है तो दोस्ती पूरी निभानी पड़ेगी मैं नहीं चाहता कि तुम दोनों को किसी भी प्रकार की कोई मुसीबत हो। अरमान और रिया ने अपने परिवार वालों के खिलाफ जाकर शादी की उन दोनों ने कोर्ट में शादी की और उसके बाद वह लोग एक साथ रहने लगे लेकिन उन दोनों के परिवार वालों में उन दोनों को स्वीकार नहीं किया और वह लोग अलग रहने लगे। उन दोनो के कुछ रिश्तेदार हैं जो ना जाने क्यों अब भी उन लोगों को परेशान करने पर तुले हुए हैं मुझे पूरा यकीन था कि उनके किसी रिश्तेदार ने ही उनके मकान मालिक के कान भरे है। मैंने अरमान से कहा तुम इस बारे में पता लगाना कि आखिर वहां पर कौन आया था क्योंकि उन्हें इस बारे की कोई भी जानकारी नहीं थी। मैंने अरमान और रिया से कहा तुम लोग चिंता मत करो अब तुम लोग अपने घर जाओ और यदि कोई परेशानी की बात हो तो तुम मुझे फोन कर देना।

वह दोनों कहने लगे ठीक है यदि ऐसी कोई परेशानी होगी तो हम लोग तुम्हें फोन कर देंगे। अरमान और रिया बहुत ज्यादा परेशान थे लेकिन मैंने उन्हें कहा तो वह लोग कहने लगे ठीक है अभी हम घर चले जाते हैं वह लोग घर चले गए। उसके बाद मेरी मम्मी ने कहा अरमान ने जब से रिया के साथ शादी की है तब से उसका जीना ही मुश्किल हो चुका है और वह अपनी लाइफ नहीं जी पा रहा है। मैं अपनी मम्मी से कहा अरमान और रिया एक दूसरे के साथ खड़े हैं वह लोग एक दूसरे से बहुत प्यार करते हैं। मेरी मम्मी कहने लगी बेटा तुम अपना ध्यान रखना कहीं उन दोनों के परिवार वाले तुम्हें कोई नुकसान ना पहुंचा दें। मैंने अपनी मम्मी से कहा उस बात की आप बिल्कुल भी चिंता मत कीजिए ऐसा कुछ भी नहीं होगा।

मस्तराम की गन्दी चुदाई की कहानी : दिल का दर्द समझा ससुर जी ने

सबसे पहले तो मैंने अरमान और रिया के लिए दूसरी जगह घर देखना शुरू कर दिया लेकिन उन लोगों को कहीं पर घर ही नहीं मिल पा रहा था थक हार कर एक दिन मैंने अपने एक दोस्त से कहा वह प्रॉपर्टी का काम करता है उसने मुझे कहा मैं तुम्हें घर दिलवा दूंगा तुम बिल्कुल चिंता मत करो। उसने अरमान और रिया को रहने के लिए घर दिलवा दिया वहा पर दोनों को कोई भी दिक्कत नहीं थी जब उन लोगों ने अपना सामान शिफ्ट कर लिया तो एक दिन उन्होंने मुझे अपने घर पर बुलाया। अरमान कहने लगा संजय तुम हमेशा ही मेरी मदद के लिए सबसे आगे रहते हो तुम मेरे दोस्त से बढ़कर हो। मैंने उसे कहा तुम ऐसा क्यों सोचते हो कि मैं हमेशा तुम्हारी मदद के लिए आगे रहता हूं जब हमने दोस्ती की है तो उसे निभाना हमारा फर्ज है।

तुम दोनों एक दूसरे से प्यार करते थे तो मुझे नहीं लगता कि तुम दोनों ने एक दूसरे से शादी कर के कोई भी गलती की है। रिया मुझे कहने लगी काश यह बात मेरे पिताजी समझ पाते तो शायद आज सब कुछ ठीक हो जाता लेकिन मेरे पापा ने तो मुझे ही घर से निकाल दिया अब मुझे कोई उम्मीद नहीं है कि वह हमारी बातों को कभी समझ भी पाएंगे या नहीं। मैंने उन दोनों से कहा एक समय ऐसा आएगा जब तुम्हारे परिवार वाले तुम्हें स्वीकार कर लेंगे और सब कुछ ठीक हो जाएगा। अरमान मुझसे कहने लगा मैं तो उसी दिन का इंतजार कर रहा हूं कि कब हमारे परिवार वाले हम लोगों को दोबारा से अपना ले और सब कुछ पहले जैसा ही सामान्य हो जाए।

वह दोनों बहुत ज्यादा परेशान थे लेकिन धीरे-धीरे उनकी जिंदगी में सब कुछ ठीक होने लगा, रिया ने हमेशा अरमान का साथ दिया उसने मुसीबत में उसका इतना साथ दिया कि शायद उसकी जगह कोई और होता तो बहुत अरमान का साथ छोड़ देता लेकिन रिया ने अरमान का हर जगह साथ दिया। रिया अब जॉब भी करने लगी थी और अरमान भी जॉब करने लगा जिससे कि उन दोनों का घर का खर्चा अच्छे से चलने लगा था और उन्हें अब किसी भी बात की कोई समस्या नहीं थी। सब कुछ बड़े ही अच्छे से चल रहा था मैं भी उन दोनों से मिलता रहता था वह लोग मुझे कभी कभार अपने घर पर बुला लिया करते थे। इसी बीच मेरी बहन भी दुबई से घर आने वाली थी मेरी बहन दुबई में अपने पति के साथ रहती है वह लोग कुछ दिनों के लिए घर आने वाले थे मैं इस बात से खुश था कि इतने वर्षों बाद मेरी मुलाकात मेरी बहन से होगी।

अन्तर्वासना हिंदी सेक्स स्टोरीज : जवानी की प्यास और चूत की खुजली

मैंने अरमान और रिया को भी उस दिन घर पर इनवाइट किया था मैं चाहता था कि एक छोटी सी पार्टी में अपनी बहन के आने की खुशी में रखूं इसलिए मैंने घर पर ही कुछ लोगों को इनवाइट किया था जो कि मेरे बहुत करीबी हैं। अरमान और रिया उस रात को आए थे ज्यादा लोग नहीं आ पाए थे लेकिन फिर भी सब कुछ बड़ा ही अच्छा रहा मेरी बहन इस बात से खुशी की उसके आने की खुशी में मैंने बड़े ही अच्छे से अरेंजमेंट किया हुआ था। सब कुछ अच्छे से हो चुका था और रात के वक्त अरमान और रिया भी अपने घर लौट गए मेरी बहन 20 दिनों तक हमारे साथ रही और उसके पति भी हमारे साथ ही थे। जब वह लोग चले गए तो उसके बाद एक दिन मैं अरमान और रिया से मिलने के लिए उनके घर पर गया मैंने अरमान से पूछा अब तो सब कुछ ठीक है ना? वह कहने लगा हां अब सब कुछ ठीक है हम लोग बात कर ही रहे थे तभी किसी ने डोर बेल बजाई रिया ने दरवाजा खोला तो उसकी कोई सहेली थी। जब रिया ने मुझे अपनी सहेली से मिलवाया तो मैं उससे मिलकर बहुत खुश हुआ उसका नाम गीतांजलि था लेकिन गीतांजलि की आंखों में कुछ हवस मुझे दिखाई दे रही थी। “Aankhon Mein Hawas”

वह मुझसे बड़े हंस कर बात कर रही थी मैंने गीतांजलि का नंबर रिया से ले लिया, एक दिन मैंने गीतांजलि को मिलने के लिए बुलाया तो वह मुझसे मिलने के लिए आई। उस दिन मैंने उसकी चूत का भोसड़ा बना दिया वह बड़ी खुश हुई क्योंकि उसकी चूत में बड़ी खुजली थी। मैंने उसे बड़े ही अच्छे तरीके से चोदा, जब मैने उसके कपड़ों को उतारा और उसकी योनि पर मैंने अपने लंड को रगडा उसकी योनि गिली थी वह मचलने लगी और कहने लगी तुम तो बड़े ठरकी हो।

मैंने उसके स्तनों पर अपने दांत के निशान भी मार दिए और उसके स्तनों से मैंने खून भी निकाल दिया जब मैंने उसके दोनों पैरों को खोल कर उसकी योनि के बीच में अपने लंड को रगडना शुरू किया तो वह उत्तेजित होने लगी। मैंने धीरे से उसकी चूत के अंदर अपने लंड को प्रवेश करवा दिया जैसे ही मेरा लंड उसकी योनि में प्रवेश हुआ तो वह चिल्लाने लगी। मैंने उसके दोनों पैरों को अपने कंधों पर रख दिया और अपने 9 इंच मोटे लंड को उसकी योनि के अंदर बाहर करता रहा वह मेरा साथ बड़े अच्छे तरीके से देती और उसकी उत्तेजना बढती जा रही थी।

कामुकता हिंदी सेक्स स्टोरीज : मालिश की भाई ने मेरी चूत की

मुझे बड़ा मजा आ रहा था वह कहती तुम मुझे धक्के देते रहो। मैंने जब घोड़ी बनाकर उसकी चूत मारना शुरु किया तो उसकी गर्मी बाहर निकलने लगी। वह मुझे कहने लगी मेरी योनि से बहुत ज्यादा गर्मी निकल रही है वह मुझे कहती तुम ऐसे ही मुझे धक्के देते रहो लेकिन जब मेरा लंड उसकी योनि के अंदर तक जाता तो वह चिल्लाती। “Aankhon Mein Hawas”

मैं उसे बड़ी तेज गति से धक्के दिए जाता काफी देर तक मैं उसे धक्के मारता रहा और उसकी इच्छा को मैं पूरा करता। वह मुझे कहती मुझे तुमसे अपनी चूत मरवाने में आज मजा आ गया ऐसा मैंने कभी सोचा नहीं था कि कोई मेरे संतुष्टि कर पाएगा लेकिन तुम्हारे लंड ने मेरी चूत को अंदर तक छिलकर रख दिया है और मेरे अंदर की पूरी गर्मी को शांत करके रख दिया है। मैं उसे धक्के दिए जा रहा था लेकिन जैसे ही मैंने अपने वीर्य को गीतांजलि की योनि में गिराया तो उसकी हवस बुझ गई थी। “Aankhon Mein Hawas”

ये कहानी Aankhon Mein Hawas Aur Chut Mein Khujli Thi Uski आपको कैसी लगी कमेंट करे………………………

1 thought on “Aankhon Mein Hawas Aur Chut Mein Khujli Thi Uski

  1. Raman deep

    कोई लड़की भाभी आंटी तलाकशुदा ओर विधवा भाभी जिसकी चूट चुद्वाने की प्यासी हो ओर मोटे लिंग से चुदाना चाहती हो तो मुझे कॉल ओर व्हाट्सएप कर सकती हो 9115210419 सिर्फ महिलाएं लड़के दूर रहे

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *