Aashiq Ke Bade Lund Ne Mere Gand Ki Khujli Khatam Ki

Aashiq Ke Bade Lund Ne Mere Gand Ki Khujli Khatam Ki

मेरा नाम सावित्री है मैं गोरखपुर की रहने वाले हूं, मेरी शादी को 10 वर्ष हो चुके हैंलेकिन इन 10 वर्षों में मैं अपने जीवन में बिल्कुल भी खुश नहीं हूं। मैं सिर्फअपने जीवन को जी रही हूं लेकिन मेरे पति मेरी इच्छाओं को कभी भी पूरा नहीं करते, मेरे पति का नाम विजयहै। वह हमेशा ही मेरी जरूरतो को पूरा नहीं करते तो मैं उनसे झगड़ा कर लेती हूं यदिमुझे कुछ भी चीज की आवश्यकता होती है तो वह कहते हैं कि तुम्हें अब उस चीज की क्याजरूरत है, अब हमारी शादी इतने वर्ष हो चुके हैं और तुम अभी भी पहले जैसीदिखना चाहती हो। मेरे अंदर बहुत ही अच्छा है लेकिन मेरे पति बिल्कुल भी मेरी बातोंको नहीं समझते इसीलिए मुझे एक अन्य पुरुष के साथ रिलेशन में रहना पड़ रहा है। Aashiq Ke Bade Lund Ne Mere Gand Ki Khujli Khatam Ki.

यह बात मेरे पति को पता नहीं है, उस व्यक्ति का नाम हेमंत है। मेरीमुलाकात हेमंत से मेरे बच्चे के स्कूल के दौरान हुई थी, मैं जब अपने बच्चेको स्कूल छोड़ने जा रही थी तो हेमंत मुझे मिल गए, वह भी उसी स्कूल में पढ़ाते हैं औरउनसे मेरी मुलाकात हो गई। जब मैं उनसे पहली बार मिली तो मैंने उनसे ज्यादा बातनहीं की, वह मेरे बच्चे के टीचर है इसलिए मेरी उनसे फोन से बात शुरू होनेलगी थी। उन्हें मेरे और मेरे पति के रिश्ते के बारे में मैंने सब कुछ बता दिया, हम लोग ज्यादा फोनपर ही बात करते थे।

चुदाई की गरम देसी कहानी : जालिम जीजा ने चोद दिया मुझे

मैं हेमंत से मिलने नहीं जाती थी क्योंकि मेरे पति घर जल्दी आ जाते थे और इस वजह से मैं हेमंत से नहीं मिल पाती थी। मैंने उन्हें अपने पति और अपने रिश्ते की कड़वाहट के बारे में सब कुछ बता दिया था, मैंने उनसे कहा कि मैं अपने पति के साथ बिल्कुल भी खुश नहीं हूं। हेमंत भी एक शादीशुदा व्यक्ति हैं लेकिन उसके बावजूद भी वह मेरे साथ रिलेशन में है क्योंकि वह भी अपनी पत्नी से बिल्कुल खुश नहीं है, हम दोनों फोन में बात करते हैं तो मुझे बहुत हल्का सा महसूस होता है।

मुझे उनसे बात कर के बहुत अच्छा लगता है।  वह भी मुझसे अपनी पत्नी के बारे में बात करते हैं और कहते हैं कि मेरी पत्नी और मेरे बीच में बिल्कुल भी अच्छे संबंध नहीं है, मैं जब भी उससे बात करता हूं तो वह हमेशा ही मुझसे झगड़ा करती है, कहती है कि तुम मेरी फीलिंग्स को अच्छे से नहीं समझ पा रहे हो। हेमंत बताते हैं कि मैंने अपनी पत्नी की हर ख्वाहिश को पूरा किया है लेकिन उसके बावजूद भी वह मुझसे खुश नहीं है।

विजय मेरी किसी भी जरूरत को पूरा नहीं करते और हमेशा ही मुझसेझगड़ा करते हैं लेकिन जब भी मैं हेमंत से बात करती हूं तो मुझे बहुत अच्छा महसूसहोता है,  मुझे लगता है कि काश मैंने हेमंत के साथ शादी की होती। हम लोगहमेशा ही इस बारे में बात करते हैं लेकिन मैं विजय को डिवोर्स नहीं दे सकतीक्योंकि हमारी फैमिली में यह सब नहीं कर सकते यदि मैंने कभी इस बारे में सोचा भीतो शायद मुझे मेरे परिवार वाले कभी भी ना अपनाएं इसलिए मैं नहीं चाहती कि मैं इतनाबड़ा कदम उठाऊ। मैंने यह बात हेमंत को भी बताई इसीलिए हम दोनों सिर्फ फोन में हीबात करते हैं और कभी कभार मैं हेमंत से अपने बच्चे की स्कूल में मिल लेती हूं। एकबार विजय मुझे कहने लगे कि हमें कानपूर जाना पड़ेगा, मैंने उन्हें कहा कि कानपूर में क्याहै, वह कहने लगे कि मेरे मामा की लड़की की शादी है इसलिए हमें कानपूरजाना पड़ेगा, तुम अपना सारा सामान रख लेना हम लोग कुछ दिनों के लिए कानपूर मेंही रहेंगे।             “Aashiq Ke Bade Lund”

आन्तार्वसना हिंदी सेक्स स्टोरीज : माँ की चुदाई रजाई में अंकल ने की

मैंने विजय से कहा ठीक है मैं अपना सामान रख दूंगी। मुझे कुछ चीजोंकी आवश्यकता थी लेकिन मुझे यह बात पता था कि यदि मैं विजय से यह बात कहूंगी तोशायद वह मेरी जरूरतों को पूरा नहीं करेंगे इसलिए मैंने हेमंत से कहा तो हेमंत कहनेलगे कि ठीक है तुम मुझे बता देना मैं तुम्हें वह सामान दिलवा दूंगा। मैंने जब हेमंतसे कहा तो हेमंत ने मुझे वह सामान दिलवा दिया, उसके बाद हम लोग कानपूर चले गए। मैं कानपूरगई तो मैंने हेमंत को फोन किया और उसे बता दिया कि मैं कानपूर पहुंच चुकी हूं। अबकुछ दिनों तक मेरी हेमंत से बात नहीं हुई और हम लोग कानपूर में ही थे। मैं काफीसमय बाद अपने सारे रिश्तेदारों से मिल रही थी इसलिए मैं बहुत खुश थी, उनके साथ मैंनेकाफी अच्छा समय बिताया। मुझे पता ही नहीं चला कि कब कानपूर में हमें इतने दिन होगये और उसके बाद हमें गोरखपुर लौटना पड़ा।                   “Aashiq Ke Bade Lund”

जब हम लोग गोरखपुर लौटे तो रास्ते में ही विजय से मेरा झगड़ा होगया,  उसके बाद मैंने घर आकर विजय से बिल्कुल भी बात नहीं की, मैंने अब विजय सेबात करना ही बंद कर दिया। वह भी अपने दफ्तर सुबह चले जाते थे और अपने दफ्तर से शामको ही लौटते थे। मेरी बात काफी दिनों से हेमंत से नहीं हुई थी इसलिए मैंने सोचा किक्यों ना मैं हेमंत को फोन कर लू। जब मैंने हेमंत को फोन किया तो वह मुझसे पूछनेलगे कि आप इतने दिनों तक कहां थी, मैंने उन्हें बताया कि मैं कानपूर से तो आ चुकी थी लेकिन मैं आपकोफोन नहीं कर पाई।

कामुकता हिंदी सेक्स स्टोरी : दीदी ने लंड चूस अरमान जगा दिए

वह कहने लगे कि मैं आपके फोन का इंतजार कर रहा था, मुझे लगा कि शायदआपके पति आपके साथ होंगे इसलिए मैंने भी आपको फोन नहीं किया। हेमंत मुझसे कहने लगेकि मैं आपसे काफी समय से नहीं मिला हूं तो क्या हम लोग मिल सकते हैं। मैंने उन्हेंकहा कि कुछ समय बाद हम लोग मुलाकात कर लेंगे, मैं आपसे मिलने स्कूल में ही आ जाऊंगी, वह कहने लगे ठीक हैजब आप स्कूल में आओगे तो मुझे बता देना, मैंने उन्हें कहा ठीक है मैं कुछदिनों बाद स्कूल में आऊंगी तो आप से मिलूंगी। मेरी विजय के साथ बिल्कुल भी बातनहीं हो रही थी और विजय को भी इस बात का कोई फर्क नहीं पड़ता था कि मैं उससे बातनहीं कर रही हूं, मुझे बहुत ही बुरा लग रहा था जब विजय मेरे साथ बात नहीं कर रहे थे।                          “Aashiq Ke Bade Lund”

एक दिन मैंने उनसे बात की और उन्हें समझाने की कोशिश की लेकिन वहमेरी बात को बिल्कुल भी समझने को तैयार नहीं थे और कहने लगे कि तुम हर बात परझगड़ा कर लेती हो इसलिए मुझे अब तुमसे बात करने में कोई भी इंटरेस्ट नहीं है। वहमुझसे बिल्कुल भी बात नहीं कर रहे थे। एक दिन मैं अपने बच्चे के स्कूल चली गई औरमैंने उस दिन हेमंत  को फोन कर दिया, मैंने उन्हें बताया कि मैं स्कूल आई हुई हूं यदि आप आ जाये तो मैंभी आपसे मिल लूंगी। वह कहने लगे कि आप मुझे कुछ समय दीजिए मैं आपसे मिलने आती हूं।मैं स्कूल के गेट पर ही उनका इंतजार कर रही थी, मुझे काफी देर हो गई थी लेकिन वह नहींआए और जब हेमंत आए तो वह मुझसे पूछने लगे कि आप काफी दिनों से मुझे मिली नहीं थीमैं भी आपसे मिलना चाहता था। अब हम दोनों वही  खड़े होकर बात कर रहे थे। हेमंत मुझसेपूछने लगे कि आपका और आपके पति का रिलेशन कैसे चल रहे हैं, मैंने उन्हें बतायाकि हम दोनों के बिल्कुल भी बात नहीं हो रही है और अब मैं बिल्कुल भी नहीं चाहती किमैं अपने पति के साथ बात करो। मैंने हेमंत से कहा कि वह मुझसे बिल्कुल भी अच्छे सेबात नहीं करते इसलिए मुझे भी उनसे कोई लेना-देना नहीं है।            “Aashiq Ke Bade Lund”

मस्तराम की गन्दी चुदाई की कहानी : भाभी को घोड़ी बना के गांड चोदी

उस दिन मेरा बहुत ज्यादा मूड खराब हो गया और मैंने हेमंत से कहा कि तुम अपने स्कूल से छुट्टी ले लो आज तुम मेरे चूत मारने की इच्छा को पूरा कर दो। वह कहने लगा ठीक है मैं स्कूल से छुट्टी ले लेता हूं और आपके साथ चलता हूं। हेमंत ने स्कूल से छुट्टी ले ली और हम दोनों ही घर चले गए। जब वह मेरे घर आया तो मैं उसके गोद में बैठ गई और मुझे बड़ा अच्छा लग रहा था जब वह मेरे होठों को अपने होठों में ले रहा थे। हेमंत ने काफी देर तक मेरे स्तनों को भी दबाया और मुझे बड़ा अच्छा महसूस हुआ जिस प्रकार से वह मेरे स्तनों को दबा रहे थे। जब मैंने अपना ब्लाउज खोला तो हेमंत मेरे बड़े बड़े स्तनों को देख कर खुश हो गए। वह कहने लगे आपके स्तन तो बहुत ही बड़े हैं। उन्होंने मेरे चूचो को अपने मुह मे ले लिया मुझे बड़ा अच्छा महसूस हुआ।

हेमंत का लंड खड़ा होने लगा मैंने कहा कि मुझे बहुत मजा आ रहा हैआप मुझे घोडी बना दो मेरी योनि के अंदर अपने लंड को डाल दो। मैने साड़ी को ऊपरकिया तो काफी देर तक हेमंत ने मेरी चत को चाटा मेरी चूत गिली हो गई। उन्होंने जैसेही मेरी चूत के अंदर अपने लंड को डाला तो मुझे बहुत अच्छा महसूस हुआ और मैंनेउन्हें कहा कि आप मुझे ऐसे ही धक्के मारते रहो। हेमंत ने बड़ी तेजी से मुझे झटकेदेना शुरू कर दिया और मुझे भी बड़ा अच्छा लग रहा था वह जिस प्रकार से मुझे झटकेदेने पर लगे हुए थे। मैं भी अपनी चूतड़ों को उनसे मिला रही थी और काफी देर तक हमदोनों ने ऐसे ही संभोग किया लेकिन ज्यादा देर तक हम दोनों एक दूसरे की गर्मी कोझेल नहीं पाए।      
    “Aashiq Ke Bade Lund”

मस्त हिंदी सेक्स स्टोरी : बाबाजी की बूटी ने दिलाई भाभी की चूत

जैसे ही हेमंत का वीर्य गिरा तो मैंने उन्हें कहा कि आप मेरी गांडके अंदर अपने लंड को डाल दो। हेमंत ने अपने लंड को मेरी गांड में डाला तो मुझेबड़ा दर्द हुआ लेकिन मुझे अच्छा भी महसूस हो रहा था। हेमंत का 9 इंच का लंड जब मेरीगांड के अंदर बाहर हो रहा था तो मेरा गांड का छेद चौडा होने लगा। मुझे बहुत अच्छालग रहा था वह जिस प्रकार से मेरी गांड मार रहा था। मैंने हेमंत से कहा कि आपने तोमेरी गांड के घोड़े खोल कर रख दिए है। मुझे बड़ा अच्छा लग रहा है आपजिस प्रकार से मुझे झटके दिए जा रहे हैं। हेमंत ने मुझे काफी देर तक ऐसे ही धक्केमारे और हेमंत का माल मेरी गांड के अंदर गिरा तो मुझे बड़ा अच्छा महसूस हुआ। वहकहने लगा मुझे आपकी बड़ी बड़ी गांड मारने में आज बहुत ही आनंद आ गया। मैंने उनसेकहा कि आपने आज मेरी इच्छा को पूरा कर दिया मैं आपसे बहुत ही खुश हूं। मैंने हेमंतको आई लव यू कहा और उन्होंने मेरे होठों को किस किया।                         “Aashiq Ke Bade Lund”

ये कहानी Aashiq Ke Bade Lund Ne Mere Gand Ki Khujli Khatam Ki आपको कैसी लगी कमेंट करे………………………………

1 thought on “Aashiq Ke Bade Lund Ne Mere Gand Ki Khujli Khatam Ki

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *