Holi Wali Chudai Ki Mast Bhabhi Ke Sath – होली वाली चुदाई की मस्त भाभी

Holi Wali Chudai Ki Mast Bhabhi Ke Sath

मेरा नाम अमन है| मेरी उम 22 साल है और मैं दिखने में गोरा हूँ | मेरी कद काठी अच्छी है जिस वजह से मैं लगता नहीं हूँ कि मेरी उम्र 22 साल होगी | दोस्तों आज जो मैं आप लोगो के सामने अपनी कहानी लिखने जा रहा हूँ ये मेरी दूसरी कहानी है | मैं उम्मीद करता हूँ कि आप सभी को मेरी कहानी पसंद आयगी | होली का दिन है इसलिए पिछले साल बीती मुझे एक घटना याद आ गई तो मैंने सोचा कि आप सभी के लिए मैं एक कहानी पेश करूँ | तो अब मैं आप लोगो का ज्यादा समय ना लेते हुए अपनी कहानी शुरू करता हूँ | Holi Wali Chudai Ki Mast Bhabhi Ke Sath.

ये घटना पिछले साल गर्मी है | दोस्तों मेरे घर में मैं हूँ और मेरा एक बड़ा भाई है | यहाँ हम दोनों साथ में रहते हैं और मेरे मम्मी पापा दिल्ली में रह कर साथ में जॉब करते हैं | मेरे बड़े भाई की शादी नहीं हुई है और उन्हें खाना बनाना आता है इसलिए मुझे कोई दिक्कत नहीं होती है | लेकिन कब तक ऐसा चलेगा इसलिए मैं भी अपने बड़े भाई के साथ खाना बनाना सीख लेता हूँ | हमारे घर के पड़ोस में एक फॅमिली रहती थी जिसमे भैया रंजन और भाभी गरिमा और उनका एक प्यारा सा बेटा मंटू रहते थे | मेरे भैया और रंजन भैया दोनों साथ में जॉब करते हैं इसलिए हमारी आपस में काफी अच्छी बन गई थी |

मस्त हिंदी सेक्स स्टोरी : सेक्सी होली के सेक्सी रंग सेक्सी मामी संग

दोनों भैया जब काम पर चले जाते थे तो मैं अकेले घर में बोर होता था इसलिए अपना टाइमपास करने के लिए मैं भाभी के पास चला जाता था | कुछ ही समय में मैं और भाभी काफी घुल मिल गए थे | अरे मैं आप लोगो को भाभी के बारे में बताना ही भूल गया | भाभी दिखने में बहुत गोरी हैं और उनका फिगर एक दम मछली की तरह सेक्सी है | उनके बड़े मम्मे और बड़े चूतड़ आकर्षण का केंद्र है | जब वो चलती थी तो उनके चूतड़ लेफ्ट राईट करते थे | और वो जब झुकती थी तब हाय उनके गोरे गोरे दूध की नाली देख कर तो मेरा लंड खड़ा हो जाता था | “Holi Wali Chudai Ki”

मेरे भैया और उनके पति दोनों साथ में रात में ड्रिंक करते थे और ये बात मुझे बहुत अच्छे से पता थी लेकिन मैं ये बात घर पर कभी नहीं बता पाया | एक दिन की बात है मैं भाभी के घर गया हुआ था | मैंने देखा कि मंटू खेल रहा था तो मैं भी उसके साथ क्रिकेट खेलने लगा | पहले मैं बौलिंग कर रहा था फिर वो करने लगा | एक बल उसने ऐसा डाला कि मैंने हलके से शॉट लगा दिया और वो बॉल सीधा खिड़की के अन्दर चली गई | मुझे ये नहीं पता था कि वो बाथरूम की खिड़की है | मैं ऊपर गया और दरवाजा खटखटाया | तो अन्दर से भाभी की आवाज़ आई कौन है ? मैंने कहा भाभी मैं हूँ अमन | फिर उन्होंने पूछा कि हाँ बोलो अमन क्या हुआ ? तो मैंने कहा भाभी मैं और मंटू क्रिकेट खेल रहे थे तो बॉल अन्दर बाथरूम में आ गई | “Holi Wali Chudai Ki”

चुदाई की गरम देसी कहानी : होली में नंदोई जी ने दबोच लिया अकेले

तो भाभी ने कहा की रुकना मुंह में साबुन लगा हुआ है अभी देती हूँ | मैंने कहा ठीक है | फिर जब भाभी ने दरवाजा खोला तो मैंने जब उन्हें देखा तो मेरी आँखे उनके मम्मो में टिक गई | उन्होंने पेटीकोट पहना हुआ था और वो इस कदर गीला था की उसमे उनकी चुच्चियाँ साफ़ नजर आ रही थी | उसके बाद उन्होंने मुझे बॉल दिया और पूछा कि क्यूँ अमन क्या देख रहा है ऐसे घूर घूर कर ? तो मैंने अपनी नजर वहां से फेर कर उनके चेहरे की तरफ देखा और कहा कुछ नहीं भाभी | तो भाभी मुझे बदमाश कह कर मुस्कुराने लगी| फिर जब मैं नीचे आया तो बस उनके बदन के बारे में ही सोच रहा था | मैंने मंटू को बॉल दिया और वहां से अपने घर आ गया | मैं बिस्तर पर लेटे लेटे उनके बारे में ही सोचा रहा था कि वो कैसे अपने सुन्दर बदन पर साबुन लगा रही होंगी और कैसे उस साबुन के झाग को अलग करने के लिए जब वो पानी डाल रही होंगी तो पानी का एक एक कतरा उनके जिस्म को एक ठंडक दे रहा होगा | यही सोचते सोचते मैंने उनके नाम की मुट्ठ मार लिया | अब मेरा भाभी के प्रति नजरिया बदल गया था | अब मैं उन्हें चोदने के बारे में सोचने लगा था |

फिर जब होली आई तब सभी लोग होली मना रहे थे और भाभी बस टीका लगाए किचिन में काम कर रही थी | मंटू भी अपने दोस्तों के साथ होली मनाने में लगा हुआ था | मेरे भैया और उनके रंजन भैया दोनों छत पर बैठ कर शराब के जाम लगा रहे थे | मेरे ख्याल से दोनों को काफी नशा हो गया था लेकिन फिर भी दोनों पीने में लगे हुए थे | मैंने सोचा कि यही सही मौका है इनको रंगने का | उसके बाद मैंने कलर को अच्छे से हाँथ में मिलाया और भाभी को पकड़ कर पीछे से उनके मुंह में पोतने लगा और कहा हैप्पी होली | भाभी मुझसे छूटने की बहुत कोशिश कर रही थी पर मैंने उन्हें कस कर पकड़ा हुआ था | मैं उनके दूध में और गांड में रंग लगा रहा था | कुछ देर बाद भाभी ने भी विरोध करना बंद कर दिया और कहा अरे ऐसे रंग मत लगा अगर मेरे पति ने देख लिया तो शामत आ जायगी | तो मैंने कहा रुको मैं देख कर आता हूँ | जब मैं छत पर गया तो देखा कि वो दोनों सो गए हैं | मैं भाभी के पास गया और कहा भाभी वो दोनों नशे में सो ही गए |
“Holi Wali Chudai Ki”

मस्तराम की गन्दी चुदाई की कहानी : होली में माँ की चूत चुदाई

ये सुन कर भाभी ने कहा चल तो फिर कमरे में | मैं उनके साथ चला गया कमरे में और उन्होंने मुझे दबोच लिया और कहा अब कर जो तुझे करना है मना नहीं करुँगी तुझे | फिर क्या था मैंने भी उनके होंठ में अपने होंठ जमाये और किस करने लगा वो भी मेरा साथ देते हुए मेरे होंठ को चूसने लगी | हम दोनों ने 10 मिनट तक एक दूसरे के होंठ खूब चूसा | फिर मैंने भाभी के साड़ी का पल्लू नीचे खिसका दिया और ब्लाउज के हुक को खोलकर ब्रा को नीचे कर के दोनों दूध को ऊपर कर दिया और उनके दोनों दूध को अपने मुंह  में ले कर बारी बारी से चूसने लगा तो उनके मुंह से अआनाहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह की सिस्कारियां निकलने लगी | “Holi Wali Chudai Ki”

मैं जोर जोर से उनके दूध को मसल मसल कर चूस रहता और वो अआनाहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह करते हुए मेरे सिर पर हाथ फेर रही  थी | कुछ देर उनके दूध चूसने के बाद वो अपने घुटनों के बल जमीन पर बैठ गई और मुझे कुर्सी पर बैठा दिया | फिर उन्होंने मेरा लोअर नीचे किया और मेरे लंड को चाटने लगी तो मेरे मुंह से अआनाहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह की सिस्कारियां निकलने लगी | वो मेरे लंड को हर तरफ से चाट चाट कर गीला कर रही थी और मैं अआनाहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह कर रहा था | मुझे उनका ऐसा करना बहुत अच्छा लग रहा था |

अन्तर्वासना हिंदी सेक्स स्टोरीज : Meri Yoni Se Pani Niklane Laga Bahut Din Bad Lund Dekh Kar

मेरे लंड को चाटने के बाद उन्होंने मेरे लंड को अपने मुंह में लिया और किसी लोलीपोप की तरह मेरे लंड को चूस रही थी | क्या बताऊं दोस्तों कितना मजा आ रहा था मुझे | वो मेरे लंड को आगे पीछे करते हुए चूस रही थी और मैं अआनाहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह करते हुए उनके मुंह को चोद रहा था | फिर उसके बाद वो बिस्तर पर लेट गई और अपनी साडी पेटीकोट ऊपर कर दिया और अपनी पेंटी को साइड में खिसका कर उन्होंने मुझसे कहा कि लो अब मेरी चूत का स्वाद चखो | मैं तुरंत ही अपना मुंह उनकी चूत पर रख दिया और अपनी जीभ से उनकी चूत को आइसक्रीम की तरह चाटने लगा तो वो अआनाहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह करते हुए कसमसाने लगी | “Holi Wali Chudai Ki”

मैं चूत को अपनी जीभ से चाटते हुए चूत के दाने को भी अपने होंठ से दबा कर चूस रहा था और वो अआनाहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह करते हुए मेरे सिर को अपनी चूत पर दबा रही थी | मैं उन्हें चोदने ही वाला था कि उनके पति ने छत से आवाज़ लगाईं  तो हम दोनों जल्दी से अपने आप को ठीक किया | अब कल भी हमारे यहाँ होली मनाई जायगी | पिछली बार चुदाई नहीं कर पाया था शायद अब मुझे उनकी चूत का स्वाद होली में चखने मिल जाए | क्यूंकि अब तक मैं उन्हें कई बार चोद चुका हूँ लेकिन होली में मुझे इस बार चोदना है और जम के चोदना है | “Holi Wali Chudai Ki”

कामुकता हिंदी सेक्स स्टोरी : गाँव में मजे लिए होली के भाभी

ये कहानी Holi Wali Chudai Ki Mast Bhabhi Ke Sath आपको कैसी लगी कमेंट करे……………

1 thought on “Holi Wali Chudai Ki Mast Bhabhi Ke Sath – होली वाली चुदाई की मस्त भाभी

  1. Raman deep

    कोई लड़की भाभी आंटी तलाकशुदा ओर विधवा भाभी जिसकी चूट चुद्वाने की प्यासी हो ओर मोटे लिंग से चुदाना चाहती हो तो मुझे कॉल ओर व्हाट्सएप कर सकती हो 9115210419

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *