Lund Ki Lottery Lag Gai Kunwari Chut Chodi – लंड की लाटरी लगी

Lund Ki Lottery Lag Gai Kunwari Chut Chodi

वो मेरे पड़ोस में रहने वाली 26 साल की लड़की है जो कक्षा 11 में  पढ़ती है और शाम में कॉलोनी के बाकी बच्चों के साथ छुपा छुपी खेलते समय  अक्सर मेरे घर में या आस-पास आकर छुप जाती है। एक शाम मैं अपने बेडरूम में लेटा था और मेरे परिवार वाले शहर से बाहर गए हुए थे। मैं घर पर अकेला ही था.. अचानक देखा कि कोई मेरे बेडरूम की खिड़की में चढ़ गया है, थोड़ी देर तक  तो मैंने ध्यान नहीं दिया फिर कुछ हलचल हुई तो परदा हटा के देखा तो चाँदनी  थी.. उसने मुझे देखते ही अपने होंठों पर उंगली रख कर चुप रहने का इशारा किया। Lund Ki Lottery Lag Gai Kunwari Chut Chodi.
मैंने शरारत में परदा इतना हटाया कि वो मुझे अंदर अच्छी तरह देख सके.. और मैं अपने डबल बेड में फिर लेट गया… वहाँ से चाँदनी खिड़की में खड़ी साफ दिख रही थी, उसकी फ्रॉक घुटने के  ऊपर तक की होने की वजह से उसकी सुडौल जांघें और थोड़ी सी चड्डी भी दिख जा  रही थी तो मेरा लंड खड़ा होने लगा। मैंने पहले तो सोचा कि मेरे से 15 साल  छोटी लड़की है, कुँवारी है, मुझे गंदा नहीं सोचना चाहिए… पर दिल और लंड मेरे दिमाग़ पर हावी हो गये, और उसको देख कर मैंने अपना लंड मसलना शुरू कर दिया…. मैंने देखा कि जल्दी ही चाँदनी उसके छुपा-छुपी के खेल में नहीं मुझमें ज़्यादा ध्यान दे रही थी.. इससे मेरी हिम्मत बढ़ी तो मैं धीरे से अपना पजामा नीचे करके सिर्फ़ लौड़े के बालों तक करके लंड ऊपर से ही दबाने लगा.. मेरे खेल में उसकी रुचि देख कर फिर मैं पजामा पूरा उतार कर लंड हाथ में छुपा कर लेट गया.. वो शायद मेरे लौड़े को देखने को बेताब हो रही थी और जब मैंने लौड़ा छुपाए  रखा तो उसने इशारे से हाथ हटाने का आग्रह किया। तो मैं समझ गया कि लड़की  गर्म हो गई है। उसकी बेताबी से मैं समझ गया कि मेरी शरारत से मेरी किस्मत खुल गई है। उसका इशारा पाते ही मैंने अपना लौड़ा पूरा उसके सामने कर दिया। उसने शायद  पूरा खड़ा और चोदने को तैयार लंड पहली बार देखा तो उसका मुँह खुला और आँख  फटी रह गई…. मैं मौका देख कर खिड़की के पास जा कर मुठ मारने लगा और लौड़े को उसको हर  तरफ से दिखाने लगा और जल्दी ही मैं झड़ गया और मेरा वीर्य सीधे पिचकारी  मारता हुआ उसके घुटने में जा लगा…. वो मेरे चेहरे और लंड को मिले सुकून से मुस्कुरा दी तो मैंने उसको बोला- अंदर आ जाओ.. Lund Ki Lottery

वो खिड़की से उतर के थोड़ी देर बाद चोरी से मेरे घर अंदर आ गई जिसके लिए मैंने पहले से ही दरवाज़ा खुला रखा था.. उसके आते ही मैंने दरवाज़ा बंद किया तो वो बोली- आपका “वो” कितना सुंदर है.. ! तो मैंने पूछा, तो उसने बताया कि उसने “यह” पहली बार देखा है, पर उसकी  दूसरी सहेलियाँ उनके बॉय-फ्रेंड्स के साथ इससे खेलती हैं और बताती है कि  खूब मज़ा आता है.. तो मैंने भी उसको सीधे बेड रूम में ले जाकर बेड पर बिठाया। मैं लेट गया  और बोला- तुम भी इससे खेलो, तुम्हारी सहेलियाँ ठीक कहती हैं.. उसने डरते डरते मेरे लंड को पजामे के ऊपर हाथ में लिया तो मैं समझ गया कि वो पहली बार कर रही है और डर भी रही है… तो मैंने पजामा उतार के उसके हाथ को अपने से पकड़ के लौड़े को कस कस के मसलने लगा तो वो डर के बोली- इतनी ज़ोर से? तो मैंने कहा- मज़ा तो आ रहा है ना…? मैंने उसको बोला- चाँदनी, देख मैं तेरे सामने बिना कपड़ों के नंगा पड़ा हूँ तो तू भी तो कपड़े उतार के दिखा.. तो बोली- डर लगता है.. मैं बोला- किससे ?..मुझसे..? मैं बोला- तुम तो अपनी मर्ज़ी से अंदर आई हो तो मुझसे डर कैसा.. वो बोली- कोई देख लेगा ! Lund Ki Lottery

तो मैं बोला- घर पूरा बंद है, अगर हम-तुम किसी को नहीं बोलेंगे तो किसी को पता नहीं चलेगा ! तो बोली- शीला कहती है कि बच्चा हो जाता है ! तो मैं समझ गया कि इसको पूरा पता नहीं है… मैं बोला- अगर तुम मुझ पर भरोसा रखो और मैं जैसा बोलूँ तुम वैसा करो तो  ना किसी को पता चलेगा, न ही बच्चा होगा, उल्टे तुमको बहुत मज़ा आएगा। तो बोली- कैसे? मैंने कहा- पहले कपड़े उतारो…. उसने शरम से मुँह ढक लिया तो मैंने पहले फ्रॉक के नीचे ही उसकी पैंटी  उतार दी और उसकी गान्ड मसालते हुए फ्रॉक की ज़िप खोल कर फ्रॉक उतार दी। वो पहली बार किसी मर्द के सामने नंगी होने की वजह से शरमा गई थी तो  मैंने कहा- देख मैं भी तो नंगा हूँ और हम दोनों के अलावा कोई और नहीं यहाँ ! और मैंने उसको आईने में दिखाया- देख हम दोनों नंगे कितने सुंदर दिख रहे हैं ! और मैंने उसको अपना लौड़ा पकड़ा दिया, उसके होंठ चूसने लगा। उसकी 32 क्स आकार के चूचे टेनिस बॉल के जैसे कस गये थे.. उसकी जवानी से मेरा लंड फिर से खड़ा हो कर कूद रहा था.. वो मेरे लंड को आगे पीछे करने के बजाए दबा रही थी, मैं गरम हो कर बोला- चाँदनी, चूस ना मेरा ! Lund Ki Lottery

तो वो बोली- “क्या” तो मुझे लगा कि पहले इसको समझा देना ज़रूरी होगा कि सेक्स कैसे करते हैं ताकि मज़ा आए। मैंने उसको बताया कि सेक्स में लड़का और लड़की नंगे हो कर जो चाहे और जैसे चाहे करते हैं और कोई मना नहीं करता। तो बोली- फिर बच्चा हो जाता होगा? तो मैंने समझाया- हम लोग जो कर रहे हैं जैसे तुम मेरे लंड को दबा रही  हो, या अगर इसको चूसोगी और मैं तुम्हारी चूची चूसूंगा या होंठ को चूमूंगा  और चुसूंगा तो बच्चा नहीं होगा। यह चुदाई के पहले का खेल है जिसको  “फोर-प्ले” कहते हैं। जब लन्ड को चूत में घुसा कर असली चुदाई होती है,  चुदाई करते करते जब लंड अपना पानी छोड़ता है और साथ में चूत भी पानी छोड़ती  है तब बच्चा होने की संभावना होती है और अक्सर समझदार लोग चोदने के बाद  झड़ने के समय लंड चूत से निकल के झाड़ते है, जैसे मैंने मुठ मार के किया।  ऐसा करने से बच्चा नहीं होता और सेक्स का पूरा मज़ा आता है। तो वो बोली- वो तो ठीक है ! पर मेरी चूची आप क्यूँ चुसोगे? वो तो छोटे बच्चे चूसते हैं और मैं आपका ये “लंड” क्यूँ चूसूंगी ? तो मैं बोला- करके तो देखो कितना मज़ा आता है। तो शायद वो पूरी तरह राज़ी नहीं हुई, तो मैंने एक ब्लू फिल्म की सीडी लगाई और उसको लेकर बिस्तर में लेट गया…. फिल्म में लड़की ने लड़के के झूलते हुए लौड़े को पहले निकाला फिर हाथ से  खेल खेल के बड़ा किया तो वो बोली- आपका तो पहले से ही बड़ा है… Lund Ki Lottery

फिर फ़िल्म की लड़की उसके लंड के सुपारे को चूसने लगी लॉली-पोप जैसे और  उसके लंड से खेलने लगी तो उसने भी मेरा लौड़ा पकड़ा और चूसने के लिए मुँह  नीचे किया तो मैंने उसको बोला- तुम पहली बार करोगी तो रूको ! और मैंने झट से लंड की टोपी में खूब सा शहद लगाया और उसको चूसने को  दिया। उसको टोपी चूसने में मज़ा आने लगा तो मैंने धीरे धीरे पूरा 6 इंच का  लंड उसके मुँह में घुसाया और अब फिल्म वाले के जैसे चाँदनी का मुँह चोदने  लगा.. फिल्म में वो लोग 69 करने लगे। फिर लड़का लड़की को बिस्तर में किनारे  लिटा कर उसकी चूची दबाते हुवे उसकी चूत चाटने लगा तो वो मुझको बोली- आप भी  ऐसे करो ना… मैं मन ही मन सोच रहा था कि मैं पक्का खिलाड़ी इस नई चिड़िया को तो चोद चोद के रंडी बना दूँगा … मैंने उसकी ब्रेड के बन जैसी कुँवारी चूत के होंठ खोल कर उसमें भी शहद डाला, फिर 69 करने लगा… मैं ऊपर चढ़ कर उसके मुँह को चोद रहा था और उसकी चूत भी चाट रहा था और वो मज़े से सिसकियाँ भर रही थी… और फिर झर भी गई……. अब उसका ध्यान टीवी पर गया जहाँ अब चुदाई शुरू हो गई थी, लड़की लड़के के  ऊपर चढ़ कर उसको चोद रही थी और उसको बार बार अपनी चूची चुसवा रही थी ! बीच  बीच में लड़के का लण्ड चूत से फिसल के निकल भी जाता था, तो वो दोबारा घुसा  कर चोदने लगती। तो वो बोली- चलो। हम भी ऐसा ही करते हैं ! मैं समझ गया कि चाँदनी अब चुदने के लिए पूरी तरह तैयार है पर उसको यह  नहीं अंदाज़ है कि वो फिल्म की लड़की कितना चुद चुकी है, और इसकी पहली बार  चुदने वाली कसी चूत ! काफ़ी अंतर है दोनों में ! Lund Ki Lottery

तो मैंने उसको बिस्तर के किनारे पर लिटाया, उसको उसके दोनों पैर कंधे तक  मोड़ कर पकड़ने को कहा। लण्ड में एक कॉण्डम लगाया और उसको बताया कि हम जब  चुदाई करंगे और अगर ग़लती से भी मैं झड़ने के समय चूत से लण्ड ना भी  निकालूं तो मेरा पानी जो कि तुम्हारे ऊपर मूठ मारते समय गया था, वो इसी के  अंदर रह जायगा और किसी भी हालत में बच्चा नहीं होगा। तो वो खुशी से मुझे चूमने लगी और बोली- आप कितने समझदार हो…. प्लीज़ अब जल्दी करो ना … मैं सोच रहा था कि मेरी समझ तो इसको अभी पता चलेगी जब इसकी चूत फटेगी और किस्मत साथ देगी तो दस मिनट बाद इसकी गाण्ड भी मारूँगा… मैं लण्ड के सुपारे को उसकी चूत के दाने में रगड़ने लगा, साथ साथ उँगली  चूत में उंगली घुसा कर रास्ता बनाने लगा और इन सब में मैं जोकि अब तक दस के  करीब चूत चोद चुका था और पिछले 14 साल से किसी ना किसी की चूत चोद रहा  हूँ, भी कंट्रोल में मुश्किल से था, मैंने अब एक हाथ से लण्ड पकड़ कर उसकी  चूत में सुपारे को सही जगह में बिठाया और उसको अपनी पूरी पकड़ में लेकर  चूची चूसते हुए बोला- चाँदनी, अब मेरा लौड़ा तेरी चूत में घुसेगा और तुझे  खूब मज़ा भी आएगा और अगर तुझे दर्द हो तो अपनी टाँगे ऊपर की तरफ उठा लेना। तो वो बोली- ठीक है ! और मैं एक पक्के खिलाड़ी की तरह उसको जकड़ कर उसके होंठ चूसने लगा ताकि  उसकी चीख मेरे मुँह में दब के रह जाए और उसकी गाण्ड के छेद में उंगली करते  हुए उसको और ज़्यादा गरम किया। Lund Ki Lottery

फिर एक करारे झटके से अपने लण्ड को उसकी चूत  में आधा से ज़्यादा पेल दिया। वो चीखी पर आवाज़ दब गई, दर्द हुआ तो टाँगें उठा ली और मैंने उसकी आँखो  से अचानक हुए दर्द से निकले आँसुओं को चाटते हुए उसको पूछा- कैसी हो … तो वो बोली- आपने तो कसाई की तरह चाकू चला दिया, मैं तो बस मरते मरते बच गई… मैंने बोला- तो चलो निकल लेता हूँ ! तो वो बोली- नहीं, थोड़ा रूको ! तो मैंने जितना घुसा था, उतने में ही लौड़े को आगे पीछे करना चालू कर  दिया। जिससे उसको आराम लगा तो मौका देख कर दूसरे और तीसरे तेज़ झटके में  में पूरा 6 इंच से भी बड़ा लौड़ा उसकी चूत के अंदर कर दिया और उसकी गान्ड की  गोलाइयों को मसलते हुवे उसकी जाँघ सहलाने लगा। तो वो बोली- निकालो-निकालो ! मैं मर जाउंगी… तो मैंने कहा- चाँदनी, जब सब हो गया तो अब निकालने का क्या मतलब, अब तो तुम वो फिल्म वाली जैसे मज़े लो ! और मैंने उठ कर उसको उसकी चूत में घुसा मेरा लौड़ा दिखाया तो उसको विश्वास नहीं हुआ कि मेरा पूरा का पूरा लौड़ा घुस चुका है। मैंने अब तक बहुत सब्र से काम लेते हुए अपने लौड़े को कुँवारी चूत में  घुसाया था, पर अब मेरा सब्र साथ नहीं दे रहा था और मैंने उसकी चूत में  धक्का-पेल चूदाई शुरू कर ही और उसको बाँहों में कस के जकड़ कर उसकी चूचियों  को करीब करीब चबाते हुए खूब चोद डाला। और वो दर्द और मज़े में चीखे ज़ा रही थी और मैं सिर्फ़ और सिर्फ़ चोद  रहा था… कह सकता हूँ कि खूब बेरहमी से चोद रहा था।उसकी कुँवारी चूत चोदने  में मुझे स्वर्ग का मज़ा मिल रहा था क्यूंकि चोदा तो 10-11 चूतों को था पर  इतनी जवान, इतनी कमसिन, इतनी कम उम्र और इतनी फ्रेश कोई नहीं थी। Lund Ki Lottery

इसे भी जरुर पढ़े: चाचू फाड़ डालो मेरी कुंवारी चूत को

उसकी चूत  फट गई थी, मुझे मालूम था कि अब रुकुंगा तो वो साथ नहीं देगी। और बेरहम चुदाई में हालांकि उसको दर्द हुआ पर जैसे ही वो पहली बार झड़ी,  उसको मज़ा आने लगा और अब तो जब मैं झरने को था तो वो 3 बार झर चुकी थी। मैं जैसे झरने को आया, उसकी चूत में दना-दन 5-6 ज़ोर के धक्के दिए और उसके ऊपर ही लुढ़क गया, जिससे वो भी एक और बार झड़ गई। मैंने अपना लड़ पूरा उसकी चूत में घुसाए रखा जब तक कि वो अपने आप ढीला होकर न निकल गया…. उसने मुझसे कहा- तुमने यह क्या किया? मैंने बोला- मेरी जान चाँदनी, आज मैंने तुमको कली से फूल बना दिया ! अब  इस फूल की खुशबू से तुम किसी भी भंवरे (लौड़े) को अपने काबू मे कर सकती हो ! वो शरमा कर बोली- आपके ने तो मेरी जान निकाल दी और दूसरो का कैसे काबू में होगा? तो मैंने कहा- यही तो राज़ की बात है, अब मेरा भी तुम्हारे काबू में है… मैंने फिर उठ कर कॉंण्डम उतारा और उसको बताया- बाहर की तरफ खून और  चिकनाई है, वो उसकी चूत का पानी है, और अंदर का पानी मेरे लौड़े का है, और  चिंता की बात नहीं, अब बच्चा नहीं ठहरेगा। मैंने चाँदनी को कहा- रानी, मैंने कितनी चूत और लड़की चोदी हैं पर जो मज़ा तुमसे मिला है वो किसी में नहीं था। और मेरी बेरहमी के लिए माफी भी माँगी तो वो बोली- आपने मुझे कली से फूल  बनाया, आप तो मुझे अब मार भी डालो तो मुझे कोई शिकवा नहीं होगा। Lund Ki Lottery

आप तो मेरे  स्वामी हो ! मुझे जैसा और जितना चाहो, चोदो, जब चाहे चोदो ! इस बीच टीवी में जो सीन था वो देखकर चाँदनी फिर टीवी से चिपक गई। वहाँ  एक नीग्रो एक गोरी लड़की के चूचे बेरहमी से खा रहा था और उसकी गाण्ड में  लण्ड घुसाने की कोशिश कर रहा था। लड़की  कुतिया की अवस्था में खड़ी थी और  वो उसके गाण्ड के छेद को पहले चाटने लगा। तो चाँदनी बोली- यह क्या करेगा अब? तो मैंने कहा- मेरी जान, सेक्स में इतनी ज़्यादा वेराइटी है कि अगर हम लोग अलग अलग स्टाइल से करें तो दिन भर चुदाई की जा सकती है। तो वो बोली- तो चोदिये ना मुझको सब तरीके से ! मैं बोला- रानी अभी तुम 30 मिनट से यहाँ चुद रही हो, और मुझे तो खुशी  होगी कि रात भर तुमको चोदूँ पर अभी घर जाओ, कल जल्दी आ जाना तो 4-5 तरीके  से चोदूंगा। तो बोली- इसको तो देखो ! वो नीग्रो उस गोरी लड़की की गान्ड बड़ी बेरहमी से चोद रहा था और चाँदनी  अब यह भी  करवाना चाह रही थी, मैंने उसको कहा- कल जब शाम को खेलने निकलो तो  याद रखना कि अब तुम बच्चों वाला नहीं वयस्कों वाला खेल खेलोगी, जिसके लिए  आने के पहले चूत और गाण्ड अच्छे से धो लेना। उसने खुश होकर कपड़े पहने और चली गई। मैं खुश था कि मैंने ऐसी लड़की चोद दी जिसकी चूत में अभी तो अच्छी तरह बाल भी नहीं आए हैं और कल यह खुद से गाण्ड भी मरवाएगी। उसके बाद तो मैंने 3 महीने तक चाँदनी को अलग अलग तरीके से चोदा, उसकी गान्ड मारी और सेक्स में संभव हर काम किया। उसको भी फिर किसी और भी लौड़े का शौक लगा और फिर एक बार किसी अमीर ज़ादे को फंसाया और उसने उसको चोदा। और एक बार होटल ले जा कर अपने 4 दोस्तों के साथ उसको चोदा ! Lund Ki Lottery

ये कहानी Lund Ki Lottery Lag Gai Kunwari Chut Chodi आपको कैसी लगी कमेंट करे…………………………….

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *